रविंद्रनाथ टैगोर के महत्वपूर्ण अविस्मरणीय विचार, रविंद्रनाथ टैगोर से जुड़े अनसुने तथ्य और विचार

रविंद्रनाथ टैगोर के महत्वपूर्ण अविस्मरणीय विचार, रविंद्रनाथ टैगोर से जुड़े अनसुने तथ्य और विचार
Last Updated: 25 अप्रैल 2024

रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्व स्तर पर प्रसिद्ध कवि, लेखक और दार्शनिक थे। वह नोबेल पुरस्कार से सम्मानित एक अद्वितीय भारतीय साहित्यकार के रूप में खड़े हैं। टैगोर साहित्य में नोबेल पुरस्कार पाने वाले पहले एशियाई और गैर-यूरोपीय थे। अपने पूरे जीवन में, उन्होंने हजारों कविताओं, आठ उपन्यासों, लघु कथाओं के आठ संग्रह और विभिन्न विषयों पर कई निबंधों की रचना की। इतना ही नहीं, रवीन्द्रनाथ टैगोर संगीत प्रेमी भी थे।

आज हम इस लेख में रवीन्द्रनाथ टैगोर के कुछ महत्वपूर्ण और यादगार विचारों के बारे में जानेंगे।

 

"शेष रहना आसान है, लेकिन संतुष्ट रहना चुनौतीपूर्ण है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"जब मैं खुद पर हंसता हूं तो मेरे ऊपर से बोझ कम हो जाता है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

ये भी पढ़ें:-

"उच्चतम शिक्षा वह है जो न केवल ज्ञान प्रदान करती है बल्कि हमारे जीवन में समस्त अस्तित्व के साथ सामंजस्य भी लाती है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"एक बर्तन में पानी हमेशा चमकता है, लेकिन समुद्र का पानी हमेशा काला होता है। छोटे सत्य के शब्द स्पष्ट होते हैं, महान सत्य मौन होते हैं।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"जब हम विनम्र होते हैं तो हम महानता के सबसे करीब पहुंचते हैं।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"हमें आजादी तब मिलती है जब हम इसकी पूरी कीमत चुकाते हैं।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"सिर्फ खड़े होकर पानी को देखने से आपको समुद्र पार करने में मदद नहीं मिलेगी।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"तथ्य बहुत हैं, लेकिन सत्य एक है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"फूल इकट्ठा करने के लिए रुकें नहीं। आगे बढ़ते रहें, आपके रास्ते में फूल लगातार खिलते रहेंगे।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"केवल तर्क-वितर्क में लगा हुआ मन केवल ब्लेड वाले चाकू की तरह है। जो इसका उपयोग करता है उसे घायल कर देता है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"फूल की पंखुड़ियाँ तोड़कर, आप सुंदरता इकट्ठा नहीं करते।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"मृत्यु प्रकाश को नहीं बुझाती; वह केवल भोर के समय दीपक को बुझाती है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"दोस्ती की गहराई परिचित होने की अवधि पर निर्भर नहीं करती।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"प्रत्येक बच्चा यह सन्देश लेकर आता है कि ईश्वर अभी तक मानवता से निराश नहीं हुआ है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"जो हमारा है वह हमें तभी मिलता है जब हम उसे प्राप्त करने की क्षमता विकसित करते हैं।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"विश्वास वह पक्षी है जो तब रोशनी महसूस करता है जब भोर अभी भी अंधेरा होती है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"जो लोग अच्छा करने में बहुत व्यस्त हैं उन्हें स्वयं अच्छा बनने के लिए समय नहीं मिलता।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"कलाकार प्रकृति का प्रेमी है; इसलिए, वह उसका दास और उसका स्वामी है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"मैंने सपना देखा कि जीवन आनंद था। मैं जागा और पाया कि जीवन सेवा है। मैंने अभिनय किया और देखा, सेवा ही आनंद है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"यदि आप सभी त्रुटियों के लिए दरवाजा बंद कर देंगे, तो सत्य बाहर आ जाएगा।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"कला के माध्यम से व्यक्ति स्वयं को प्रकट करता है, अपनी वस्तुओं को नहीं।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"प्यार कब्ज़ा का दावा नहीं करता बल्कि आज़ादी देता है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"प्यार ही सच्चा है, यह महज़ एक भावना नहीं है बल्कि एक सच्चाई है जो सृष्टि से ही दिल में बसती है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"चाँद अपनी रोशनी पूरे आकाश में फैलाता है लेकिन अपने दोष अपने पास रखता है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

"संगीत दो आत्माओं के बीच की दूरी को भर देता है।" - रवीन्द्रनाथ टैगोर

Leave a comment

ट्रेंडिंग