मध्य प्रदेश: 1 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, सरकार 3 जुलाई को करेगी बजट पेश

मध्य प्रदेश: 1 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, सरकार 3 जुलाई को करेगी बजट पेश
Last Updated: 02 जुलाई 2024

आज से मध्य प्रदेश विधानसभा का 19 दिवसीय मानसून सत्र शुरू हो रहा है। 19 जुलाई तक चलने वाले इस सत्र पेपर लीक और नर्सिंग घोटाले का मुद्दा भी उठाया जायेगा।

MP Politics: मध्य प्रदेश में आज यानि 1 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है, जो 19 जुलाई तक जारी रहेगा। इसी सत्र में 3 जुलाई को वित्तमंत्री जगदीश देवड़ा मोहन सरकार के कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश करेंगे।

ऐसे में BJP और कांग्रेस दोनों दलों के नेताओं में इस बार सदन के लिए कई खास तैयारियां की हैं। इस के साथ साथ में कूल 14 बैठकें भी होंगी। बताया जा रहा है कि इस बार पक्ष और विपक्ष दोनों तरफ के विधायकों ने मानसून सत्र में 4287 प्रश्न विधानसभा सचिवालय में पहुंचा दिए हैं। 

मानसून सत्र में 4 हजार से ज्यादा प्रश्न

ये भी पढ़ें:-

subuz.com को मिली जानकारी के अनुसार, इस मानसून सत्र में कूल 4587 प्रश्न पूछे जायेंगे। जिनमें MLA द्वारा सत्र में 1901 Ofline और 2386 Online सवाल लगाए गए। इसके साथ ही, 2108 तारांकित और 2179 अतारांकित सवाल लगाए गए। वहीं, 163 ध्यान आकर्षण, 1 स्थगन प्रस्ताव, अशासकीय संकल्प 27 और शून्य काल की सभी 43 सूचनाएं विधानसभा सचिवालय को पहुंचाई गई है। 

बता दें कि विपक्ष के विधायकों द्वारा कई मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है। इसके साथ ही विधानसभा के इस सत्र के दौरान सदन में पेपर लीक ममलों से जुड़े मुद्दों को उठाया जायेगा। वहीं, सत्र की शुरुआत होने से पहले रविवार (30 जून) को विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर ने विधानसभा पहुंचकर सम्पूर्ण तैयारियों का जायजा लिया।

सरकार का 3 जुलाई को बजट पेश

मोली जानकारी के मुताबिक, इस सत्र के दौरान अधिकारियों ने बताया कि सरकार 3 जुलाई को बजट पेश करने वाली है। जो, 16वीं विधानसभा का तीसरा सत्र होगा। कांग्रेस द्वारा कथित नर्सिंग कॉलेज घोटाले और पिछले विधानसभा चुनावों में कृषि उपज पर MSP के BJP के वादे सहित कई मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने की उम्मीद है।  फ़िलहाल, कई नर्सिंग कॉलेजों में होने वाले घोटाले की जांच के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो  (CBI) को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

सत्र से पहले कैबिनेट की बैठक

वहीं, विधानसभा सत्र की शुरुआत से पहले मुख्यमंत्री मोहन यादव अपने मंत्रियों के साथ बैठक में शामिल होंगे। जो विधानसभा की कार्यवाही शुरू करने से पहले आज सुबह 10 बजे विधानसभा में मोहन कैबिनेट की बैठक आयोजित की, जिसमें बजट, पेपर लीक, नर्सिंग घोटाला समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा होगी। सूत्रों की मानें तो इस बैठक में सदन में पेश किए जाने वाले बिलों को भी कैबिनेट के समक्ष रखा जा सकता है।

Leave a comment

ट्रेंडिंग