शिव जी का महा कल्याणकारी महामंत्र, जपते ही दूर होते हैं सभी दु:ख दर्द,और बनने लगते हैं बिगड़े काम जानें विस्तार से।

शिव जी का महा कल्याणकारी  महामंत्र, जपते ही दूर होते हैं सभी दु:ख दर्द,और बनने लगते हैं बिगड़े काम जानें विस्तार से।
Last Updated: Thu, 19 Jan 2023

शिव जी के इस कल्याणकारी महामंत्र के जपते ही दूर होते हैं सभी दु:ख दर्द और बनने लगते हैं बिगड़े काम

सनातन परंपरा में किसी भी देवी–देवता की कृपा पाने के लिए कई प्रकार की पूजा विधि बताई गई है। इनमें मंत्र जप बहुत ज्यादा प्रभावशाली माना गया है। ऐसी मान्यता है कि कलयुग में मंत्रों के जाप करने से ईश्वर की तुरंत कृपा प्राप्त होती है। यदि आप शिव जी के भक्त हैं और प्रतिदिन शिव की साधना करते हैं तो आप शिव से जुड़े मंत्रों का जप करके अपने जीवन से जुड़े तमाम तरह के दु:खों को दूर कर सकते हैं। सोमवार को भगवान भोलेनाथ की पूजा की जाती है। शिव शंकर को भोलेनाथ इसलिए कहा जाता है क्योंकि थोड़ी सी स्तुति, प्रार्थना से भोलेनाथ जल्द ही अपने भक्त की पुकार सुन लेते है। भोलेनाथ की शक्तियां जितनी अनंत, अपार व विराट हैं, उतना ही सरल है उनका स्वरूप व स्वभाव, इसी वजह से भोलेनाथ भक्तों के मन में समाया है। आइए जानते हैं इस आर्टिकल में औघड़दानी भगवान भोलेनाथ से जुड़े वो चमत्कारी मंत्र जिसे जपते ही भगवान शिव की कृपा बरसने लगती है।

1.कारोबार में वृद्धि के लिए

यदि आए दिन आपका कारोबार मंदा पड़ गया हो, काम–धंधे में तमाम तरह की बाधाएं आ रही हों और उसमें चाह कर भी मन न लगता हो तो आपको उसे पटरी पर लाने के लिए आपको  शिव साधना का यह प्रयोग जरूर करना चाहिए। व्यवसाय में लाभ पाने के लिए कपाली कुटिका को नीचे दिये गये मंत्र को कम से कम 51 बार जपकर अपने व्यवसायिक स्थल पर धन रखने वाले स्थान पर रखें।

'विशुद्धज्ञानदेहाय त्रिवेदीदिव्यचक्षुषे।

श्रेय:प्राप्तिनिमित्ताय नम: सोमाद्र्धधारिणे।।

ये भी पढ़ें:-

2.राजनीति में सफलता पाने के लिए

यदि आप राजनीति के क्षेत्र से जुड़े हुए हैं और आपको किसी बड़े पद या लाभ का इंतजार है तो आपको ऐसे में भगवान शिव की साधना जरूर करनी चाहिए। राजनीति में सफलता पाने के लिए त्रिपुरारी माला का विधि–विधान से पूजन एवं नीचे दिये गये मंत्र से अभिमंत्रित करके उसे गले में धारण करें।

‘ॐ देवाधिदेव देवेश सर्वप्राणभूतां वर।

प्राणिनामपि नाथस्त्वं मृत्युंजय नमोस्तुते।।‘

3.ऊपरी बाधा और नजर दोष दूर करने के लिए

यदि आपको लगता है कि आपके किसी विरोधी ने आपके ऊपर तंत्र–मंत्र जैसी चीज करवा दी है या फिर आप नजर दोष के शिकार हो गये हैं और आपको हमेशा मानसिक एवं शारीरिक कष्ट बना रहता है तो आपको इससे उबरने के लिए शिवगौरी यंत्र का विधि–विधान से पूजन करके नीचे दिये गये रुद्राष्टकम् के इस मंत्र का जरूर पाठ करना चाहिए।

‘प्रचण्डं प्रकृष्टं प्रगल्भं परेशं, अखण्डं अजं भानुकोटिप्रकाशं।

त्रय: शूलनिर्मूलनं शूलपाणिं, भजेऽहं भवानीपतिं भावगम्यम्।‘

शिव उपासना के आसान उपायों से भी मिलने वाली शिव कृपा का विश्वास ही हर भक्त के लिए सुखों का भंडार खोल देता है, शास्त्रों के अनुसार सांसारिक जीवन से जुड़ी ऎसी कोई मुराद नहीं जो शिव उपासना से पूरी न हो। शास्त्रों में बताई शिव पूजा से जुड़ी बातें उजागर करती हैं की शिव भक्ति में मात्र शिव नाम स्मरण ही सारे सांसारिक सुखों को देने वाला है। विशेष रूप से शास्त्रों में बताए शिव उपासना के विशेष दिनों, तिथि और काल को तो नहीं चूकना चाहिए।

Leave a comment