शेर और बढ़ई की कहानी

शेर और बढ़ई की कहानी
Last Updated: Sun, 15 May 2022

एक दिन जंगल में एक शेर और एक बढ़ई की दोस्ती हो गई। बढ़ई ने शेर को अपने घर बुलाया, और उसके कहने पर शेर ने उसके साथ खाना खाया। शेर को वह खाना बहुत स्वादिष्ट लगा। बढ़ई ने शेर से कहा, "तुम यहां रोज आकर खाना खा सकते हो, पर वादा करो कि तुम अकेले आओगे। एक दिन सियार और कौवे ने शेर से पूछा कि वह अब शिकार क्यों नहीं करता। शेर ने जवाब दिया, "मैं रोज बढ़ई के घर जाकर खाना खाता हूं। बढ़ई की पत्नी बहुत स्वादिष्ट खाना बनाती है।" शेर ने उन दोनों को भी अपने साथ बढ़ई के घर खाना खाने के लिए बुलाया।

जब बढ़ई ने शेर के साथ सियार और कौवे को आते देखा, तो वह अपनी पत्नी के साथ पेड़ पर चढ़ गया। उसने शेर से कहा, "तुमने अपना वादा तोड़ा है। आज से हमारी दोस्ती खत्म। यहां वापस मत आना।"

 

कहने से मिलती है यह शिक्षा:

इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है कि हमें अपना वादा कभी भी नहीं तोड़ना चाहिए।

Leave a comment


ट्रेंडिंग