फ़रवरी में होगी सर्विस वर्कर्स की होगी श्रृंखलावत हड़ताल, होटल, रेस्टोरेंट्स, मार्केट्स और कई डे केयर होंगे प्रभावित। PAM

फ़रवरी में होगी सर्विस वर्कर्स की होगी श्रृंखलावत हड़ताल, होटल, रेस्टोरेंट्स, मार्केट्स और कई डे केयर होंगे प्रभावित। PAM
pam
Last Updated: Sat, 20 Jan 2024

फ़रवरी में होगी सर्विस वर्कर्स की होगी श्रृंखलावत हड़ताल, होटल, रेस्टोरेंट्स, मार्केट्स, सब होंगे प्रभावित। PAM 

फरवरी  में हजारों कर्मचारियों की हड़ताल 

सर्विस सेक्टर्स की यूनियन ( PAM) ने बुधवार को कहा है की, फरवरी की शुरुआत में होटल, रेस्तरां, दुकानों, सर्विस स्टेशनों और साफ़ सफाई के साथ साथ, रियल एस्टेट कंपनिययां इस श्रृंखलाबद्ध हड़ताल से प्रभावित होने जा रही हैं।  इस श्रृंखलाबद्ध हड़ताल में PAM यूनियन में शामिल हजारों कर्मचारी भाग लेंगे।    

कब सुरु होगी पहली हड़ताल 

PAM के अधिकारियों ने बताया है की ये हड़ताल पहले से अलग होने जा रही है, इसे कई चरणों में श्रृंखलाबद्ध तरीके से किया जायेगा। पहली हड़ताल  24 घंटे तक चलेगी जो आधी रात से सुरु होकर दूसरे दिन आधी रात तक चलेगी, पहली हड़ताल 1 फरवरी को होगी। इस हड़ताल में कर्मचारियों के बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने की उम्मीद है।  

ये भी पढ़ें:-

क्या है कारण ?

वैसे तो इस समय कई कारन हैं, बढ़ती महंगाई के साथ साथ सैलरी का उतना ना बढ़ने से कामगारों में रोष तो था ही, और सरकार ने अनएम्प्लॉयमेंट बेनिफिट यानी की बेरोजगारी भत्ते में कटौती कर दी है, जिसके कारण ये रोष काफी बढ़ गया है। 

PAM की चेयर पर्सन ( Annika Rönni-Sällinen ) ने अपनी टिप्पणी में कहा की, हमारी मांगो को नजरअंदाज किया गया, बेरोजगारी भत्ते में कटौती से अधिक नौकरियाँ पैदा नहीं होंगी, बल्कि वे उन लोगों की स्थिति और आजीविका को और कमजोर कर देंगी जो पहले से ही बेरोजगारी से जूझ रहे हैं। हमें अपनी बातों को सरकार तक पहुंचाने के लिए और उनमें संशोधन करने के लिए सरकार से अनुरोध करने के लिए प्रदर्शन करने और राजनीतिक हड़ताल करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं दिखता है

Kansalaistori Square पर भी प्रदर्शन 

PAM ने 1 फरवरी को हेलसिंकी के कानसालाइस तोरी ( Kansalaistori Square )  पर होने वाले प्रदर्शन में भी भाग लेने का फैसला किया है। कानसालाइस तोरी ( Kansalaistori Square ) पर प्रदर्शन का आयोजन सेंट्रल ऑर्गनाइजेशन ऑफ फिनिश ट्रेड यूनियन्स (SAK) और फिनिश कॉन्फेडरेशन ऑफ प्रोफेशनल्स (STTK) द्वारा किया जा रहा है। इन दोनों केंद्रीय संगठनों ने उन सभी नागरिकों और गैर-सरकारी संगठनों को इस प्रदर्शन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है जो सरकार की नीति और फैसले चिंतित हैं।

PAM ने कहा कि सरकार ने पहले ही बेरोजगारी सुरक्षा यानि की ( unemployment security ) और आवास भत्ते ( housing अलाउंस ) में कटौती कर दी है। और सरकार कर्मचारियों की छंटनी को आसान बनाने, हड़ताल के अधिकार को प्रतिबंधित करने और बीमार होने पर छुट्टी के पहले दिन को अवैतनिक ( unpaid leave ) बनाने की भी योजना बना रहा है। सरकार के इन सभी फैसलों से काम करनेवालों का मनोबल कमजोर होगा, उन्हें बेरोजगारी में मिलनेवाली सुरक्षा को लेकर चिंतिंत होना पड़ेगा और उनके लिविंग के स्टैण्डर्ड में गिरावट आएगी।  

किनपर होगा ज्यादा असर 

PAM के अनुसार, हड़ताल से एस ग्रुप ( S Group ) की सभी दुकानें और सर्विस स्टेशन और रेस्तरां,  केस्को ( Kesko यानि की K Group ) की सभी किराना दुकानें रेस्तरां और और सर्विस स्टेशन, लिडल ( Lidl ) और टोकमनी ( Tokmanni ) की सभी दुकानें प्रभावित होंगी। पर्यटन और होटल क्षेत्र में इसका असर स्कैंडिक होटल्स ( Scandic Hotels ), एस ग्रुप ( S Group ) और सोकोस होटल ( Sokos Hotels )  के सभी होटलों और रेस्तरां पर पड़ेगा।

डे केयर, ट्रांसपोर्ट और स्कूल भी 

इस हड़ताल से कई डे केयर्स और स्कूलों पर भी असर होगा, पब्लिक ट्रांसपोर्ट यानी बस, ट्रेन, इन सब पर भी पर भी असर होगा, साथ साथ एयरपोर्ट भी इसकी चपेट में होगा जिससे एयर ट्रैफिक पर असर होगा.

कंस्ट्रक्शन यूनियन भी होगा शामिल 

शुक्रवार को अलग से, फिनिश कंस्ट्रक्शन ट्रेड यूनियन ने कहा है, कि वह भी 1-2 फरवरी को होनेवाले राजनीतिक हड़ताल में शामिल होगा। कंस्ट्रक्शन ट्रेड यूनियन के घोषणा के बाद ये साफ़ हो गया है की, राजधानी क्षेत्र में चल रहे आवास और दूसरे तरह के निर्माण स्थलों पर लगभग 50 प्रतिशत काम प्रभावित होगा। 

और भी यूनियन के शामिल होने की उम्मीद 

अगले कुछ दिनों में पेपरवर्कर्स यूनियन, और ट्रांसपोर्ट वर्कर्स यूनियन एकेटी ( AKT )  की तरफ से भी इसी तरह की घोषणाएं होने की उम्मीद है।जिस तरह से एक के बाद एक यूनियंस इस महा हड़ताल में शामिल हो रही हैं, इससे ये तो तय है की इस हड़ताल का असर व्यापक होने जा रहा है। इन सबसे होनेवाले प्रभाव के असर से बचने के लिए पहले से तयारी कर लेना आवश्यक है। 

subkuz.com अपने पाठकों के सुझाव पर जल्द ही कमेंट बॉक्स की सुविधा लेकर आ रहा है, उसके बाद हमारे पाठक अपनी राय भी लिख सकेंगे। subkuz.com दुनियां का एक मात्र हिंदी न्यूज़ पोर्टल है जो 151 छोटे-बड़े शहरों में लोकली उपलब्ध है, subkuz.com यूरोप की लोकल न्यूज़ हिंदी  में आप तक पहुंचाता है, हिंदी को यूरोप और बाकि दुनियां में फैलाने में हमारा सहयोग करें और ज्यादा से ज्यादा subkuz.com को फैलाएं। अगर आप लिखने के शौक़ीन हैं और अपनी प्रतिभा को लोगों के बिच ले जाना चाहते है तो हमें अपनी रचना newsroom@subkuz.com पर भेज सकतें है।  

Leave a comment


ट्रेंडिंग