Amritpal Singh Got Parole: खडूर साहिब सीट से सांसद अमृतपाल को मिली पैरोल, खुशी जाहिर करते हुए चाचा सुखचैन सिंह ने कहां - 'देर आए दुरुस्त आए...',

Amritpal Singh Got Parole: खडूर साहिब सीट से सांसद अमृतपाल को मिली पैरोल, खुशी जाहिर करते हुए चाचा सुखचैन सिंह ने कहां - 'देर आए दुरुस्त आए...',
Last Updated: Wed, 03 Jul 2024

असम की डिब्रूगढ़ जेल में बंद अमृतपाल सिंह को चार दिनों की पैरोल दी गई है। वह पंजाब की खडूर साहिब सीट से सांसद चुने गए। बता दें पांच जुलाई को वह लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के समक्ष सांसद पद की शपथ लेंगे।

अमृतसर: 'वारिस पंजाब दे' चीफ और खडूर साहिब सीट से नवनिर्वाचित सांसद अमृतपाल सिंह को आखिरकार चार दिनों की पैरोल मिल गई है। अमृतपाल सिंह पांच जुलाई को लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के समक्ष सांसद पद की शपथ लेंगे। अमृतपाल पांच जुलाई को शपथ लेने के लिए डिब्रूगढ़ जेल से ही सीधे संसद भवन में पहुंचेंगे। अमृतपाल को पैरोल मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए चाचा सुखचैन सिंह ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहां कि उस समय और भी अच्छा लगता जब अमृतपाल सभी के साथ सांसद की शपथ लेता।

अमृतपाल की रिहाई पर चाचा सीखचैन की प्रतिक्रिया

खडूर साहिब सीट से सांसद मृतपाल को पैरोल मिलने की खबर मिलने के बाद उसके चाचा सुखचैन सिंह ने प्रतिक्रियादी है। सुखचैन सिंह ने कहां कि हमें सोशल मीडिया के माध्यम से पता चला कि सरकार 5 जुलाई को लोकसभा में स्पीकर जी के समक्ष अमृतपाल को शपथ दिलवाने वाली है। हम चाहते थे कि उनका शपथ ग्रहण समारोह अन्य सांसद के साथ होता तो और ज्यादा अच्छा लगता। लेकिन देर आए दुरुस्त आए।

ये भी पढ़ें:-

सुखचैन सिंह ने कहां कि हम प्रशासन से बात करेंगे कि जब वह संसद में शपथ लें तो परिवार के लोग भी वहां मौजूद रहे। उन्हें जेल से अब रिहा कर देना चाहिए। लोकतंत्र में विश्वास रखने वाली सत्ता रूढ़ सरकार को जनादेश का सम्मान करना चाहिए। एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी) को हटाया जाना चाहिए और अमृतपाल लोगों की सेवा करने का एक मौका देना चाहिए।

अमृतपाल NSA कानून के तहत जेल में हैं बंद

बता दें कि अमृतपाल सिंह को पंजाब पुलिस ने पिछले साल अप्रैल माह में मोगा से अरेस्ट किया था। उसके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, 1980 (NSA) के अंतर्गत आरोप दर्ज किये गए। अधिकारी ने बताया कि असम की डिब्रूगढ़ जेल में बंद खालिस्तान समर्थक अमृतपाल पर पंजाब में ग्यारह आपराधिक मामले दर्ज किये गए हैं। बता दें कि एनएसए एक निवारक निरोध कानून है जो औपचारिक आरोप लगाए बिना 12 महीने तक व्यक्तियों को हिरासत में रखने की अनुमति प्रदान करता है। बीते कुछ दिनों पहले अमृतपाल व उसके साथियों पर एक साल के लिए एनएसए को बढ़ा दिया गया हैं।

 

Leave a comment


ट्रेंडिंग