Jharkhand Crime News: अजीत डोभाल की सुरक्षा में तैनात अधिकारी के साथ हुई ठगी, जमीन दिलाने के नामपर ऐंठे 43 लाख रूपये, पढ़ें पूरी जानकारी

Jharkhand Crime News: अजीत डोभाल की सुरक्षा में तैनात अधिकारी के साथ हुई ठगी, जमीन दिलाने के नामपर ऐंठे 43 लाख रूपये, पढ़ें पूरी जानकारी
Last Updated: Mon, 01 Jul 2024

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की सुरक्षा में तैनात अधिकारी धर्मेंद्र कुमार दुबे के साथ एक शातिर आरोपी ने जमीन दिलाने के नाम पर 43 लाख रुपये की ठगी को अंजाम दिया। धर्मेंद्र कुमार दुबे ने इस संबंध में स्थानीय पुलिस थाने में आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई हैं।

रांची: राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनके बेटे की सुरक्षा में तैनात अधिकारी गढ़वा के रहने वाले धर्मेंद्र कुमार दुबे के साथ रांची के रहने वाले एक व्यक्ति ने जमीन दिलाने के नाम पर 43 लाख रुपये की ठगी कर ली। किसी तरह आरोपी ने 28 लाख रुपए तो वापस कर दिए, लेकिन 15 लाख रुपये मांगने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है। धर्मेंद्र कुमार दुबे ने इस घटना के संबंध में रांची के पंडरा थाना में बैंक कॉलोनी में रहने वाले राजीव कुमार चौधरी के खिलाफ 15 लाख रुपये गबन करने का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत दर्ज कराई।

आखिर मामला है क्या?

सुरक्षा अधिकारी धर्मेंद्र कुमार दुबे ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि राजीव कुमार से उन्होंने कुछ महीने पहले एक जमीन लेने की बात की थी। इसके एवज में उन्होंने राजीव कुमार को एडवांस में 43 लाख रुपये दिए थे। राजीव ने उनसे एक जमीन का एग्रीमेंट भी कर लिया था, लेकिन पैसे लेने के बाद भी उसने जमीन की रजिस्ट्री नहीं करवाई। उसके बाद वह जमीन के नाम पर कई बार अलग-अलग एग्रीमेंट कराता और उनसे पैसे लेता रहा। धर्मेंद्र कुमार दुबे ने  आरोप लगाया कि राजीव कुमार चौधरी ने राजेश कुमार नामक व्यक्ति से भी ऐसे ही ठगी की हैं।

ये भी पढ़ें:-

बताया कि आरोपित जमीन के कागजात में छेड़छाड़ करके लोगों को बेवकूफ बनाकर उनके साथ लाखों रूपये की ठगी करता है। धर्मेंद्र कुमार दुबे ने बताया की उसके खिलाफ जानकारी मिली की वह लोगों को झांसा देने के लिए शपथपत्र पर जमीन के एग्रीमेंट करता है, ताकि लोगों को उसपर यकीन हो जाए। जमीन के नाम पर लोगों से पैसे लेने के बाद वह वहाँ से गायब हो जाता हैं।

कैसे हुआ मामले से पर्दाफाश

पुलिस शिकायत में धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि पुरे पैसे दिए जाने के बाद भी लंबे समय तक जमीन की रजिस्ट्री नहीं करने और बार-बार कहने पर बात को टालमटोल करने के रवैये को देखते हुए उन्हें राजीव कुमार पर शक हुआ। इसके बाद उन्होंने राजीव से अपने दिए हुए पैसे वापस मांगा तो आरोपित ने 28 लाख रुपये लौटा दिए। इसके बाद बाकि के पैसे देने के लिए टाल-मटोल करने लगा। अब पैसे मांगने पर वह जान से मारने की धमकी देता है और पैसे वापस नहीं करने की बात कहता है। उसने धमकी दी है कि अब पैसे मांगे तो अंजाम ठीक नहीं होगा। पुलिस ने शिकायत के बाद मामले की तहकीकात शुरू कर दी हैं।

 

Leave a comment


ट्रेंडिंग