राशिफल 2023 वृषभ राशि : जनवरी से दिसम्बर तक वृषभ राशि वालों के लिए कैसा रहेगा? साल 2023

राशिफल 2023 वृषभ राशि : जनवरी से दिसम्बर तक वृषभ राशि वालों के लिए कैसा रहेगा? साल 2023
Last Updated: 05 जून 2023

नया साल शुरू होने से पहले सभी यह जानने के इच्छा रखते हैं कि उनके लिए नया साल कैसा रहेगा। आने वाले साल में उनके जीवन पर ग्रहों-नक्षत्रों का कैसा प्रभाव रहेगा? वृषभ राशि के लोगों के लिए शुक्र ग्रह उनके स्वामी ग्रह होते हैं। शुक्र की गिनती शुभ ग्रहों में होती है। वृषभ राशि के जातकों के लिए साल 2023 बहुत शुभ और सफलता दिलाने वाला साल रहेगा। साल 2023 में शनि और गुरु दोनों ही ग्रह राशि परिवर्तन करेंगे। इसके अलावा अक्टूबर में राहु-केतु भी राशि परिवर्तन करेंगे। ऐसे में यह साल कुल मिलाकर आपको हर क्षेत्र में सफलता,धन,सुख-समृद्धि और यश दिलाने वाला साल रहेगा। इस साल आप अपने लक्ष्यों को हासिल करने के करीब पहुंचने वाले है। जीवन के कई ऐसे पहलु है जिनसे आपको रूबरू होने का मौका मिलने वाला है। इस साल आपकी दार्शनिक सोच आपको जीवन का अलग ही नजरिया प्रदान करने वाली है। आप नवीन विचारों और स्थानों की सदैव कद्र करते हैं और इसी कारण इस साल कुछ यात्राएं आपके आध्यात्मिक पहलु को उजागर करने वाली होगी। 

जनवरी

आपके लिए वर्ष की शुरुआत अष्टम सूर्य और नवम शनि से हो रही है। साल की शुरुआत में ही आपको सतर्क रहना होगा। शुक्र का गोचर मकर राशि में पत्नी से मधुर सम्बन्ध और लाभ की स्थिति पैदा करने वाला होगा। जनवरी के मध्य में सूर्य देव आपके भाग्य में वही शनि देव अपनी मूल त्रिकोण राशि कुम्भ में यानी दशम भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के फलस्वरूप आपको अत्यधिक मेहनत करनी होगी जिसका परिणाम आपको आने वाले समय में दिखाई देगा। इस समय शनि की दृष्टि बारहवें भाव में विराजमान राहु पर होने के कारण विदेश यात्रा के योग बनने वाले है। 

फरवरी

फरवरी में आपके राशि स्वामी शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में विराजमान होकर आपके लिए स्त्री से लाभ के योग निर्माण करने वाले है। इस समय नवीन प्रेम संबंध की शुरुआत के साथ साथ पत्नी के साथ घूमने फिरने की योजना बनेगी। जिनका विवाह तय नहीं हो रहा था अब उनके विवाह की बात होगी। फैशन,ग्लैमर,मीडिया,कपड़े के कारोबार से जुडी महिलाओं के लिए 15 फरवरी से 12 मार्च तक का समय बेहद अनुकूल रहने वाला है।

ये भी पढ़ें:-

मार्च

इस माह इस राशि के जातकों का समय मिलाजुला रहेगा। कार्यों की अधिकता के कारण थोड़ा तनाव मिल सकता है लेकिन जातक अपने परिश्रम एवं सूझ-बूझ से स्थितियों को पटरी पर लाने में सफल हो सकता है। प्रेम संबंधों में थोड़ी कठिनाई के बाद सफलता मिल सकती है। स्त्री सुख का योग बन सकता है। घूमने –फिरने एवं देश-विदेश की यात्रा का भी योग है। अधिक धन का योग बन सकता है लेकिन खर्च की अधिकता बनी रह सकती है इसलिए निरन्तर सक्रिय बने रहे और अपने कार्यों को विस्तार करने का प्रयास करें। विद्यार्थियों के लिए भी समय अनुकूल है। पढ़ाई-लिखाई में मन लग सकता है। कार्य-क्षेत्र का विस्तार हो सकता है। बड़ी परियोजनाओं पर कार्य करने का अवसर मिल सकता है। जातक अपनी बात-चीत की कला से बिगड़े कार्यों को भी पटरी पर लाने में सफल हो सकता है। पारिवारिक लोगों को सहयोग मिल सकता है। जिससे जातक को बड़ा आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकता है। बच्चों की पढ़ाई-लिखाई में सुधार हो सकता है। किसी बच्चे का अच्छी जगह नौकरी या किसी अच्छे संस्थान में प्रवेश मिलने से जातक आनन्दित हो सकता है। धर्म-कर्म के प्रति भी रुचि बढ़ेगी ईश्वरीय आराधना के द्वारा जातक अपने अध्यात्मिक ज्ञान को बढ़ाने में सफल हो सकता है। व्यवसायिक दृष्टि से भी सप्ताह अनुकूल है इसलिए बाजार एवं शेयर मार्केट में पैसा लगाने पर बड़े लाभ की स्थित बन सकती है।

अप्रैल   

इस माह पुत्र पत्नी का निरन्तर सहयोग मिलने से जातक मानसिक रुप से प्रसन्नचित होगा। बच्चे पुत्र पुत्रियाँ सबकी आर्थिक स्थितायाँ अनुकूल होगीं। सब अपने पैरों पर खड़े होने में सफल हो सकते है। जिससे जातक मानसिक रुप से राहत महसूस कर सकता है लेकिन अत्यधिक भागदौड़ अभी बनी रह सकती है। धनार्जन अधिक होने का योग बन सकता है। जातक अपने कर्मों से अपनी बड़ी पहचान बनाने में सफल हो सकता है। घरेलू समस्याओं के पटरी पर आने पर जातक का ईश्वरीय सत्ता में विश्वास बढ़ सकता है। ज्ञान-विज्ञान के प्रति रुझान बढ़ सकती है। अध्यात्म एवं विज्ञान दोनों के बीच संतुलन बनाकर जातक आगे बढ़ने में सफल हो सकता है। जातक का आत्मबल बढ़ सकता है। कुछ बड़ी एवं महत्वपूर्ण परियोजनाओं को विस्तार देने से जातक का आर्थिक पक्ष मजबूत हो सकता है। देश-विदेश की यात्रा का भी योग है। व्यवसायकि दृष्टि से भी अधिक परिश्रम के साथ ही लाभपूर्ण स्थितियाँ बन सकती है। इसलिए बाजार एवं शेयर मार्केट में सोच-समझकर पैसा लगायें। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता आयेगी। एक दूसरे के प्रति विश्वास बढ़ सकता है। जिससे समर्पण की भावना विकसित हो सकती है। स्त्री सुख का प्रबल योग है। शुक्र का मंत्र करने से स्थितियाँ अधिक अनुकूल हो सकती है।

मई- जून

इस समय इस त्रिग्रही युति पर शनिदेव की नीच की दृष्टि होगी जिसके कारण सिर दर्द,लीवर और किडनी की समस्या होगी। इस समय आपके पिता से मतभेद हो सकते है। पिताजी की बीमारी  इलाज़ के सिलसिले में बाहर की यात्रा हो सकती है। इस समय जो कोर्ट कचहरी से जुड़े मामलों में असफलता हाथ लग सकती है।  जो जातक अपनी नौकरी में प्रमोशन या उन्नति की राह देख रहे थे उन्हें खुशखबरी मिल सकती है। गुरु की कृपा से गूढ़ विद्या,तंत्र,मंत्र और साधना में रूचि जाग सकती है और आप सफल भी होंगे। 6 अप्रैल से लेकर 2 मई राशि स्वामी शुक्र का गोचर लग्न में ही होने से आपको असीम स्त्री सुख प्राप्त होगा। पत्नी की मदद से कोई बड़ी सफलता हाथ लगेगी। किसी महिला सहकर्मी से प्रेम हो सकता है। वृष राशि के लिए मारकेश मंगल 10 मई से नीच राशि कर्क में प्रवेश कर जाएंगे। 10 मई से लेकर 1 जुलाई तक के इस समय में आपको इस बात का ध्यान रखना है कि अति उत्साह में आप कोई गलती नहीं कर दे। इस समय अवधि में मंगल राहु से चौथा होने के कारण मानसिक तनाव सम्भव है। इस समय अपने भाइयों से आपका कोई विवाद हो सकता है। कार्यस्थल पर आपको साजिश का शिकार होने से बचना होगा। 15 मई के बाद सूर्य का वृष राशि यानी लग्न में गोचर आपको थोड़ा अहंकारी बना सकता है। इस समय आप लोगों पर हावी होने की कोशिश कर सकते है हालांकि सरकार से जुड़े लोगों का सहयोग आपको मिलता रहेगा।

जुलाई- अगस्त

जुलाई अगस्त का महीना आपके कार्य स्थल पर बड़े बदलाव लेकर आ सकता है। इस समय मंगल शुक्र बुध शनि का प्रभाव आपके दशम भाव पर होगा जिसके फलस्वरूप बड़ी जिम्मेदारी आपको मिल सकती है। यह भी हो सकता है कि आपको वर्तमान नौकरी से कहीं अच्छा ऑफर कहीं से मिले और आप नौकरी बदल ले। 17 अगस्त से जब सूर्य अपनी ही राशि में चौथे भाव से गोचर करेंगे तो आपको सरकारी पक्ष से कोई बड़ी मदद मिल सकती है। सूर्य शनि का यह समसप्तक योग जीवन में कई बड़े बदलाव लेकर आएगा। इस समय राजनीति से जुड़े जातकों को सफलता प्राप्त होगी। लोहे,मशीन,तेल,खनन से जुड़े जातकों को बड़ा मुनाफा मिलने की संभावना है। 

सितंबर-अक्टूबर 

सितंबर का माह जातकों के पारिवारिक सुख में वृद्धि करने वाला होगा। इस समय शुक्र बुध के सहयोग से भाइयों का सहयोग और रिश्तों को लेकर आपकी भावुक प्रवृति से लोग प्रभावित होंगे। स्त्री जातकों को इस माह अच्छे अवसर प्राप्त होने की संभावना दिखाई पड़ रही है। जो स्त्री जातक काफी समय से अपने कारोबार को लेकर पैसे की फंडिंग में लगी हुई थी अब उन्हें अच्छे मौके मिलने वाले है। अक्टूबर का माह वृष राशि के जातकों के लिए कई मायनों में खास होने वाला है। इस माह मंगल का गोचर आपके छठे भाव में होगा। मंगल 3 अक्टूबर का तुला में प्रवेश कर विपरीत राजयोग का निर्माण करने वाले है। देव गुरु मंगल की दृष्टि में आकर यहां मंगल आपके लिए मंगल करने वाले है। इस समय नौकरी में उन्नति,बैंक से लोन का मिलना,शत्रु नाश होना जैसी घटना आपके जीवन में होने वाली है। 30 अक्टूबर को राहु आपके लाभ भाव यानी मीन राशि और केतु आपके पंचम भाव यानी कन्या राशि में आ जायेंगे। इस बड़े गोचर के कारण एक तरफ तो आपको गुरु चांडाल योग से मुक्ति मिलेगी वही दूसरी और मंगल राहु का षडाष्टक योग शुरू हो जायेगा। 

नवंबर-दिसंबर

16 नवंबर तक का यह समय आपके लिए थोड़ा कठिन होगा। इस समय किसी लड़ाई झगड़े के कारण बदनामी हो सकती है। इस समय किसी गलत माध्यम से आपके पास धन आने के योग बन सकते है। ऑनलाइन जुआ,सट्टा और लॉटरी जैसी चीजों में धन बर्बाद भी हो सकता है। 16 नवंबर को मंगल के वृश्चिक में आने से इस अशुभ योग से आपको मुक्ति मिलेगी और किसी नए साझेदारी का योग भी बनता हुआ दिखाई दे रहा है। इस समय आपका साहस और पराक्रम आपको प्रसिद्धि देने का काम करेगा। अगले एक माह तक इस भाव में सूर्य मंगल की युति आपको समाज में प्रसिद्धि देने का काम करेगी। नवम्बर के अंत में राशि स्वामी शुक्र का प्रवेश तुला राशि में होगा और विपरीत राजयोग का निर्माण करेगा। इसके कारण आप अपनी किसी महिला मित्र के माध्यम से विदेश यात्रा का लुत्फ़ लेंगे। विदेश के लिए वीजा की राह देख रहे जातकों को सफलता मिलने वाली है।

Leave a comment

ट्रेंडिंग