पीएम किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

पीएम किसान सम्मान निधि योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया
Last Updated: Fri, 23 Dec 2022

"किसान" नाम अपने आप में महत्वपूर्ण अर्थ रखता है। यह हमें तुरंत याद दिलाता है कि किसान हमारे देश के अन्नदाता हैं। हम सभी जानते हैं और स्वीकार करते हैं कि भारत मुख्य रूप से एक कृषि प्रधान देश है, और किसान भारत के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि किसानों की प्रगति के बिना भारत का विकास अधूरा है।

हालाँकि, इन दिनों हम अक्सर किसानों का विरोध प्रदर्शन देखते हैं, जो उनकी परेशानी का संकेत देता है। कुछ जगहों पर किसान अपनी फसलों के उचित दाम पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, तो कुछ जगहों पर वे अपनी बेची गई फसलों के भुगतान के लिए लंबे समय तक इंतजार करते-करते थक गए हैं।

भारत सरकार किसानों को लाभ पहुंचाने और उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए समय-समय पर नई-नई योजनाएं लाती रहती है। आज हम इनमें से कुछ योजनाओं पर विस्तार से चर्चा करेंगे, जिसका उद्देश्य हमारे किसान भाइयों को सरल भाषा में समझाना है। हमें उम्मीद है कि हमारा लेख हमारे पाठकों के मन में घूम रहे कई सवालों का जवाब देगा। तो चलिए आज बात करते हैं पीएम किसान सम्मान निधि योजना के बारे में।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना भारत सरकार की कई महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है। प्रारंभ में, इस योजना ने उन छोटे किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जिनके पास 2 हेक्टेयर (4.9 एकड़) से कम भूमि थी। लेकिन अब इस योजना के तहत देश के सभी किसानों को सालाना 200 रुपये की मदद मिल रही है. न्यूनतम आय 6,000 रु. यह योजना 1 दिसंबर 2018 को शुरू की गई थी और किसानों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हुई है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को रु. 6,000 प्रति वर्ष तीन किस्तों में, सीधे उनके बैंक खातों में जमा किए जाते हैं। हर चार महीने में किसानों को 200 रुपये की सहायता राशि मिलती है. 2,000.

ये भी पढ़ें:-

 

योजना के लिए बजट आवंटन

यह योजना 2018 के रबी सीज़न के दौरान रुपये के शुरुआती बजट के साथ शुरू की गई थी। 20,000 करोड़. योजना पर अनुमानित वार्षिक व्यय रु. देश भर के किसानों की बढ़ती रुचि और भागीदारी के कारण 75,000 करोड़ रु. अधिक किसानों और उनकी जरूरतों को समायोजित करने के लिए बजट आवंटन में सालाना वृद्धि देखी गई है।

 

योजना के लाभ

यह योजना उन छोटे किसानों के लिए बेहद फायदेमंद साबित हुई है जो बुआई के समय नकदी की समस्या से जूझते हैं। सहायता राशि से उन्हें बीज, उर्वरक और अन्य आवश्यक वस्तुएँ खरीदने में मदद मिलती है। यह आर्थिक रूप से कमजोर किसानों के लिए विशेष रूप से उपयोगी है, जिन्हें अकेले खेती के माध्यम से खुद को बनाए रखना चुनौतीपूर्ण लगता है।

यह योजना उन किसानों के लिए है जिनके पास दो हेक्टेयर से कम कृषि भूमि है। राज्य सरकारें किसानों के विवरण को सत्यापित करने के लिए बैंकों और अन्य सूचना केंद्रों के साथ सहयोग करती हैं, और एक बार पुष्टि हो जाने पर, केंद्र सरकार सीधे किसानों के बैंक खातों में धनराशि स्थानांतरित करती है। इस योजना को सफल बनाने में डिजिटल सिस्टम की भूमिका महत्वपूर्ण रही है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

किसान पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के माध्यम से या सीधे योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं।

 

सीएससी के माध्यम से आवेदन करने के चरण:

1. अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाएं।

2. आधार कार्ड, बैंक पासबुक और जमीन के दस्तावेज जैसे जरूरी दस्तावेज साथ रखें।

3. सीएससी संचालक के पास सभी दस्तावेज जमा करें और योजना के लिए आवेदन करें।

4. यदि आवश्यक हो तो आवेदन शुल्क का भुगतान करें।

5. पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है और इसे पूरा होने में लगभग 10 से 15 मिनट का समय लगता है।

 

आवेदन प्रक्रिया पूरी करने के बाद आवेदन का प्रिंटआउट अवश्य ले लें।

 

पीएम किसान सम्मान निधि योजना हेल्पलाइन नंबर

यदि आपको पात्र होने के बाद भी योजना का लाभ प्राप्त करने में कोई समस्या या देरी का सामना करना पड़ता है, तो आप जानकारी के लिए पीएम किसान सम्मान निधि योजना के हेल्पलाइन नंबर 155261/1800115526 टोल-फ्री या 011-23381092 पर संपर्क कर सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, आप आधिकारिक ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

Leave a comment