आर्मी ऑफिसर कैसे बनें? जानें पूरी जानकारी

आर्मी ऑफिसर कैसे बनें? जानें पूरी जानकारी
Last Updated: Wed, 18 Jan 2023

आर्मी ऑफिसर कैसे बनें? जानें पूरी जानकारी

भारतीय सेना में ऑफिसर बनना बहुत गर्व की बात है। सेना में शामिल होना लाखों युवाओं का सपना होता है और देश के ज्यादातर युवा सेना अधिकारी बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। हालाँकि, यह सपना कुछ ही लोगों का पूरा हो पाता है। इसे हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत, समर्पण और सही जानकारी जरूरी है। समय पर तैयारी से सेना अधिकारी बनकर देश की सेवा करने का अवसर मिल सकता है। भारत में ऐसे कई युवा हैं जो भारतीय सेना में अपना करियर बनाना चाहते हैं। हालाँकि, कई लोगों को इसके बारे में सही जानकारी नहीं मिल पाती है। परिणामस्वरूप, वे अपने सपनों को पूरा करने में असफल हो जाते हैं, तो आइए इस लेख में जानें कि आर्मी ऑफिसर कैसे बनें।

 

भारतीय सेना क्या है?

भारतीय सेना में काम करने वाले व्यक्ति को आर्मी ऑफिसर कहा जाता है। एक आर्मी ऑफिसर का मुख्य काम दुश्मनों द्वारा किये जाने वाले हमलों को विफल करना और दुश्मन देशों के सैनिकों से देश की रक्षा करना होता है। इसके अतिरिक्त, सेना अधिकारी आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए अपने देश को आंतरिक खतरों से बचाने के लिए भी काम करते हैं।

ये भी पढ़ें:-

 

दरअसल, सेना में आर्मी ऑफिसर का पद काफी महत्वपूर्ण माना जाता है और इस पद पर काम करने वाले व्यक्ति पर काफी जिम्मेदारी होती है। एक सेना अधिकारी अपने देश की रक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान भी दे सकता है और दुश्मन सैनिकों की जान भी ले सकता है। सेना में एक आर्मी ऑफिसर का चयन कई प्रक्रियाओं के बाद किया जाता है ताकि सेना को देश की सेवा के लिए एक अनुभवी अधिकारी मिल सके।

 

भारतीय सेना में ऑफिसर कैसे बनें?

12वीं कक्षा उत्तीर्ण:

सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात, भारतीय सेना अधिकारी बनने के लिए 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है। इसके अलावा, भविष्य में बेहतर संभावनाएं पाने के लिए व्यक्ति को अच्छे अंक हासिल करने चाहिए। कम से कम 50% अंक आवश्यक हैं।

 

आर्मी ऑफिसर बनने के लिए शारीरिक आवश्यकताएँ:

भारतीय सेना में ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार की आयु 18 से 42 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

उम्मीदवार की न्यूनतम ऊंचाई 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

उम्मीदवार को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत होना चाहिए।

अभ्यर्थी का वजन कम से कम 50 किलोग्राम या उससे अधिक होना चाहिए।

उम्मीदवार की दृष्टि एकदम सही होनी चाहिए और उन्हें कलर ब्लाइंड नहीं होना चाहिए।

 

आयु सीमा:

भारतीय सेना में शामिल होने के लिए उम्मीदवार की आयु 18 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आरक्षित वर्ग के लोगों के लिए आयु में छूट है।

 

एक भारतीय सेना अधिकारी का वेतन:

भारतीय सेना एक बेहद प्रतिष्ठित पद है जिसमें अच्छा वेतन मिलता है। जब आप शुरुआत में भारतीय सेना अधिकारी बनते हैं, तो आपका वेतन ₹5,200 से ₹20,200 तक हो सकता है। जैसे-जैसे आप अपने पद पर आगे बढ़ते हैं, आपकी सैलरी भी उसी हिसाब से बढ़ती है।

नौकरी मिलने के बाद आप प्रति माह ₹56,100 से ₹1,77,500 तक वेतन कमा सकते हैं। इसके अतिरिक्त, ग्रेड पे या बोनस भी प्रदान किया जाता है, जिससे आपका वेतन और बढ़ जाता है।

 

भारतीय सेना अधिकारी का कार्य क्या है:

एक भारतीय सेना अधिकारी का प्राथमिक कार्य देश और उसके नागरिकों या किसी सरकार और संबंधित लोगों की रक्षा करना है।

भारतीय सेना अधिकारी का काम देश के दुश्मनों पर हमला करना और दुश्मनों के हमलों को विफल करना है।

वे हमें स्वतंत्र रूप से जीने की आजादी देते हैं।

एक अधिकारी राजनीतिक विचारधाराओं को बढ़ावा देने, व्यवसायों और कंपनियों को लाभ पहुंचाने, जनसंख्या वृद्धि पर अंकुश लगाने, इमारतों और सड़कों का निर्माण करने, आपदा प्रबंधन, सामाजिक रीति-रिवाजों में भाग लेने और विशेष स्थानों की रक्षा करने के लिए भी जिम्मेदार होता है।

उनका मुख्य कार्य अपने देश की रक्षा करना है।

 

भारतीय सेना अधिकारी बनने के लाभ:

भारतीय सेना अधिकारी बनने के बाद लोग आपको सम्मान की दृष्टि से देखेंगे।

इस क्षेत्र में आपको वित्तीय सुरक्षा भी प्रदान की जाएगी। सेवानिवृत्ति के बाद भी, आपको अन्य नौकरियां मिलने का आश्वासन दिया जाता है।

भारतीय सेना अधिकारी बनकर भी आप उच्च शिक्षा के अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं।

तुम भारत के वीर सैनिक कहलाओगे।

इसमें आपको सैलरी भी काफी अच्छी मिलती है. इस सैलरी से आप अपने परिवार की हर इच्छा पूरी कर पाएंगे।

वेतन के साथ-साथ आपको समय-समय पर बोनस भी मिलता है, जो आपकी वित्तीय गतिविधियों को बढ़ाने में मदद करता है।

इस नौकरी के अंतर्गत आपको प्रशिक्षण के दौरान अनुशासन और शिष्टाचार सिखाया जाता है, जिसका लाभ आपको जीवन भर मिलता है।

एक सेना अधिकारी देश और उसके नागरिकों की रक्षा करता है। इसके बदले में सैनिकों और उनके परिवारों को समाज में ऊंचा दर्जा दिया जाता है, जो आज के समय में एक महत्वपूर्ण बात है।

सेना अधिकारियों के बच्चों को केंद्रीय विद्यालयों में विशेष शिक्षा प्रदान की जाती है। सैनिकों और उनके परिवारों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधाएँ प्रदान की जाती हैं। वरिष्ठ अधिकारियों को कार स्विमिंग पूल और गोल्फ कोर्स जैसी सुविधाएं भी प्रदान की जाती हैं।

नोट: ऊपर दी गई जानकारियां अलग -अलग स्रोत और कुछ व्यक्तिगत सलाह पर आधारित है। हम उम्मीद करते है की ये आपके कैरियर में सही दिशा प्रदान करेगा। ऐसे ही latest information के लिए देश-विदेश, शिक्षा, रोजगार, कैरियर से जुड़े तरह - तरह के आर्टिकल पढ़ते रहिए Sabkuz.com पर।

Leave a comment

ट्रेंडिंग