PM Modi Visit Russia: पीएम मोदी और राष्ट्रपति पुतिन की मुलाकात से टेंशन में आया अमेरिका, दोनों की मुलाकात से सता रहा इस बात का डर, जानिए क्या है वजह?

PM Modi Visit Russia: पीएम मोदी और राष्ट्रपति पुतिन की मुलाकात से टेंशन में आया अमेरिका, दोनों की मुलाकात से सता रहा इस बात का डर, जानिए क्या है वजह?
Last Updated: Tue, 09 Jul 2024

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात से अमेरिका को चिंता सताने लग गई है। पीएम मोदी और पुतिन की एक अनौपचारिक बैठक से पहले विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहां कि मैं प्रधानमंत्री मोदी के पब्लिक रिमार्क को देखने का इच्छुक हूं?

वाशिंगटन: प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी रूस के दो दिवसीय दौरे पर गए हुए हैं। इस दौरान उन्होंने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की। पीएम मोदी का रूस जाना और पुतिन से मिलना अमेरिका की रास नहीं आ रहा, उसको किसी बात की चिंता सताने लग गई है। पीएम मोदी की पुतिन के साथ हुई अनौपचारिक बैठक के कुछ ही समय बाद अमेरिका ने सोमवार को एक बाड़ा बयान दिया हैं।

पीएम मोदी और पुतिन की मुलाकात से अमेरिका परेशान

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात से परेशान अमेरिका ने सोमवार को यूक्रेन पर मॉस्को के आक्रमण के बीच भारत के साथ रूस के संबंधों को लेकर गहन चिंता जताई है। समाचार एजेंसी Subkuz.com के अनुसार, विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहां कि 'मैं प्रधानमंत्री मोदी के पब्लिक रिमार्क को बड़ी ध्यान से देखूंगा कि उन्होंने क्या किया और कहां, साथ ही हमने रूस के साथ भारत के संबंधों के बारे में अपनी चिंताओं को जाहिर कर दिया हैं।

ये भी पढ़ें:-

अमेरिका को भारत से खासी उम्मीद

 विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने कहां कि अमेरिका को बहुत ज्यादा उम्मीद है कि भारत या कोई भी अन्य देश जब रूस के साथ मुलाकात के दौरान बातचीत करेगा, तो वह “यह स्पष्ट करेगा कि मॉस्को को संयुक्त राष्ट्र चार्टर और यूक्रेन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान अवश्य करना चाहिए।

फरवरी 2022 में यूक्रेन के साथ युद्ध शुरू होने के बाद से ही भारत पर रूस से दूरी बनाने के लिए अमेरिका लगातार दबाव बना रही है। भारत ने रूस के साथ अपने दीर्घकालिक संबंधों और अपनी आर्थिक जरूरतों का हवाला देते हुए इस दबाव का विरोध करते हुए मुहं तोड़ जवाब दिया, हालांकि उसने डप देशो के बीच चल रहे युद्ध के शांतिपूर्ण समाप्ति के लिए भी आवाज उठाई हैं।

रूस पहुंचे पीएम मोदी

बता दें, पीएम मोदी जी राष्ट्रपति पुतिन के निमंत्रण पर 22वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए सोमवार (8 जुलाई) शाम सवा पांच बजे रूस पहुंचे। फरवरी 2022 में मॉस्को द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद मोदी जी की यह पहली रूस यात्रा है। उनकी पिछली यात्रा पांच साल पहले वर्ष 2019 में हुई थी, जब उन्होंने सुदूर पूर्वी शहर व्लादिवोस्तोक में एक आर्थिक सम्मेलन में भाग लेकर उसे सम्बोधित किया था।

Leave a comment

ट्रेंडिंग