क्या आपको पता है की पपीता का रोज सेवन करने से बीमारी नाम का शब्द आपके आस-पास उड़ान भी नहीं भरता, जानिए,

क्या आपको पता है की पपीता का रोज सेवन करने से बीमारी नाम का शब्द आपके आस-पास  उड़ान भी नहीं भरता, जानिए,
Last Updated: Sat, 14 Jan 2023

रोज करें पपीता का सेवन, बीमारियां छू भी नहीं पाएंगी Consume papaya daily, diseases will not touch you

पपीता एक ऐसा फल है जो आपको कहीं भी आसानी से मिल जाएगा। अगर आपके घर के सामने कुछ जमीन है तो आप इसका पेड़ भी लगा सकते हैं। ये एक ऐसा फल है जिसे कच्चा होने पर भी इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इसका छिलका बेहद मुलायम होता है जो आसानी से उतर जाता है। इसे काटने पर इसके भीतर कई छोटे-छोटे काले रंग के बीज होते हैं। स्वास्थ्य के लिहाज से ये एक बहुत ही फायदेमंद फल है। पोषण से भरपूर पपीता कई बीमारियों से दूर रखने में कारगर है।

पापीते के सेवन से होने वाले 20 स्वास्थ्य लाभ:-

1. पपीता कहीं भी आसानी से मिलने वाला फल है। अगर आपके घर के सामने कुछ जमीन है तो आप इसका पेड़ भी लगा सकते हैं। यह एक ऐसा फल है जिसे कच्चा भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका छिलका बहुत मुलायम होता है और आसानी से निकल जाता है। काटने पर इसके अंदर कई छोटे-छोटे काले बीज होते हैं। स्वास्थ्य की दृष्टि से यह बहुत ही गुणकारी फल है। पोषण से भरपूर पपीता कई बीमारियों को दूर रखने में कारगर है।

ये भी पढ़ें:-

 

2. पाचन या भूख न लगने की समस्या से जूझ रहे लोगों को हर कोई पपीता खाने की सलाह देता है। चाहे पका हो या कच्चा, इसके कई फायदे हैं, लेकिन कई बार इसका अधिक सेवन हानिकारक भी हो सकता है। पपीता विभिन्न औषधीय गुणों से भरपूर पोषण से भरपूर फल है। इन्हीं गुणों के कारण इसकी अपनी अलग पहचान है। चाहे कच्चा हो या पका, दोनों ही सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। पपीते में विटामिन ए, सी, नियासिन, मैग्नीशियम, कैरोटीन, फाइबर, फोलेट, पोटेशियम, तांबा, कैल्शियम और विभिन्न एंटीऑक्सीडेंट होते हैं।

 

3. पपीते में कुछ मात्रा में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट भी होता है। एक छोटे पपीते में लगभग 60 कैलोरी होती है. आइए जानें पपीते के विभिन्न फायदों के बारे में।

 

4. दिल को स्वस्थ रखें: पपीता विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर से भरपूर होता है। इसमें मौजूद फाइबर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में बहुत प्रभावी है।

 

5. वजन नियंत्रित करें: अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो मध्यम आकार के पपीते का सेवन फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन सी, फोलेट और पोटेशियम के साथ 120 कैलोरी होती है। इसमें पाया जाने वाला पपेन एंजाइम पाचन में सहायता करता है और आपके पेट के लिए काम करना आसान बनाता है। पपीते में इतना कोलेस्ट्रॉल और फैट नहीं होता, जो वजन घटाने में मदद करता है।

 

6. इम्यूनिटी सिस्टम होगा मजबूत: पपीते के सेवन से शरीर को कई जरूरी तत्व मिलते हैं। इसमें विटामिन सी भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो श्वेत रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है। एंटीऑक्सीडेंट, प्रोटीन, विटामिन ए और ई की मौजूदगी हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली की मजबूती के लिए आवश्यक है। इससे कई बीमारियां दूर रहती हैं।

 

7. आंखों के लिए फायदेमंद: पपीते में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है, जो आंखों के लिए जरूरी है। इसमें कैरोटीनॉयड ल्यूटिन होता है, जो आंखों को नीली रोशनी से बचाता है और मोतियाबिंद से भी लड़ता है।

 

8. कैंसर से बचाए: पपीते में लाइकोपीन, कैरोटीनॉयड, एंटीऑक्सीडेंट, बीटा-क्रिप्टोक्सैन्थिन और बीटा-कैरोटीन मौजूद होते हैं, जो कैंसर से बचाव में अहम भूमिका निभाते हैं।

 

9. पाचन में फायदेमंद: पपीते में विभिन्न पाचन एंजाइम जैसे पपेन और कई आहार फाइबर होते हैं। वे पाचन तंत्र को सक्रिय रखते हुए पाचन को उत्तेजित करने में मदद करते हैं। इसमें बीटा-कैरोटीन, विटामिन ई और फोलेट होता है, जो कब्ज जैसी समस्याओं से बचाता है।

 

10. पपीता कब खाएं : पपीते का सेवन सुबह के समय करना चाहिए। इसके कम अम्लीय गुणों के कारण, यह सुबह आसानी से पच जाता है, और इसकी उच्च जल सामग्री और फाइबर शरीर की चयापचय दर को संतुलित करती है। लेकिन याद रखें कि इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें। इसकी कुछ मात्रा शाम के नाश्ते के दौरान भी ली जा सकती है, लेकिन रात के खाने के बाद पपीता नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होने के कारण इसे पचाना पाचन तंत्र के लिए थोड़ा मुश्किल होता है।

 

11. कच्चे पपीते के फायदे: गठिया से राहत: जब रक्त और ऊतकों में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है, तो गठिया होता है। पपीते में पाए जाने वाले एंटी-इंफ्लेमेटरी एंजाइम पपेन और काइमोपैपेन यूरिक एसिड को नियंत्रित करते हैं, जिससे सूजन से भी राहत मिलती है।

 

12. पीलिया से राहत : पीलिया का सबसे ज्यादा असर लीवर पर होता है। ऐसे में लीवर और पीलिया के मरीजों के लिए कच्चे पपीते का सेवन फायदेमंद होता है। इसलिए पीलिया के मरीजों को कच्चे पपीते का सेवन करना चाहिए।

 

13. मजबूत हड्डियों के लिए: विटामिन की कमी से हड्डियों में दर्द और कमजोरी हो सकती है। कच्चे पपीते का सेवन कई जरूरी विटामिन की कमी को दूर करने में मदद करता है।

 

14. स्तनपान के फायदे: शोध से पता चला है कि कच्चा पपीता तमाम औषधीय गुणों से भरपूर होता है। इसमें सभी प्रकार के पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसलिए इसके सेवन से स्तनपान कराने वाली महिलाओं को काफी फायदा होता है।

 

15. त्वचा में निखार: सिर्फ सेहत के लिए ही नहीं बल्कि त्वचा के लिए भी पपीता बहुत फायदेमंद होता है। पके पपीते के गूदे को मसलकर चेहरे पर लगाया जाए तो चेहरे पर चमक आ जाती है। इसके अलावा, पपीते को थोड़े से नींबू के रस के साथ मैश करके चेहरे पर लगाने से त्वचा के दाग-धब्बे साफ हो जाते हैं। पपीते में फ्लेवोनोइड्स और बीटा हाइड्रॉक्सी एसिड की मौजूदगी त्वचा के लिए फायदेमंद होती है।

 

16. बालों के लिए उपयोगी : पपीते में पपेन नामक एंजाइम होता है, जो बालों की जड़ों को मजबूत बनाता है। इससे बाल लंबे और खूबसूरत बनते हैं। पपीते के पत्तों का रस एक प्रभावी कंडीशनर के रूप में काम करता है। सेहत का ध्यान रखें, नुकसान से बचें

 

17. गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका सेवन डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही करना चाहिए। पपीते के बीज और जड़ें भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकते हैं। शोध के अनुसार, पपीते में उच्च मात्रा में लेटेक्स होता है, जो गर्भाशय के संकुचन का कारण बन सकता है।

 

18. पपीते में पपेन होता है, जो शरीर के एपिडर्मिस को नुकसान पहुंचा सकता है, जो भ्रूण के विकास के लिए आवश्यक है।

 

19. अगर आप खून पतला करने की दवा ले रहे हैं या पेट में दर्द है तो पपीते का सेवन न करें।

 

20. विशेषज्ञों के अनुसार, पपीते की बाहरी त्वचा में लेटेक्स होता है, जो पेट खराब या दस्त का कारण बन सकता है।

 

Leave a comment