राशिफल कुंभ राशि : साल 2023 जनवरी से दिसम्बर तक कुंभ राशि वालों के लिए कैसा रहेगा ये साल, 2023

राशिफल कुंभ राशि : साल 2023 जनवरी से दिसम्बर तक कुंभ राशि वालों के लिए कैसा रहेगा ये साल, 2023
Last Updated: Sat, 11 Feb 2023

नया साल शुरू होने से पहले सभी यह जानने के इच्छा रखते हैं कि उनके लिए नया साल कैसा रहेगा। आने वाले साल में उनके जीवन पर ग्रहों-नक्षत्रों का कैसा प्रभाव रहेगा। कुंभ राशि के जातकों पर शनि का विशेष प्रभाव रहता है। इस साल शनि आपने बारहवें भाव से निकलकर लग्न भाव में गोचर करेंगे और आपकी शनि की साढ़ेसाती का मध्य चरण शुरू होगा। शनि के लग्न पर गोचर से आपको अच्छे परिणाम मिलने वाले है। अगर आपकी कुंडली में शनि अच्छा है तो यह गोचर कार्य स्थल पर बेहद अच्छे परिणाम देने वाला कहा जा सकता है। आपके तृतीय भाव पर, सप्तम भाव पर और दशम भाव पर शनि की दृष्टि होगी और इस भाव से जुड़े फलों में वृद्धि होगी। इस साल अप्रैल अंत तक गुरुदेव बृहस्पति आपके धन भाव में विराजमान होकर आपके धन की वृद्धि और उसके बाद उनका गोचर आपके तीसरे भाव यानी पराक्रम भाव में होगा जहां उनकी राहु से युति होगी। इस समय गुरु चांडाल दोष के कारण गुरु के शुभ फलों में थोड़ी कमी आ सकती है। 30 अक्टूबर को राहु केतु भी अपनी राशि बदलकर क्रमशः मीन और कन्या में प्रवेश कर जाएंगे। अब राहु का गोचर आपके वाणी भाव में और केतु का गोचर आपके आठवें भाव में होगा। इस समय थोड़ी पारिवारिक कलह, वाणी दोष और दुर्घटना भी हो सकती है। बाकी ग्रहों का भी आपके जीवन पर प्रभाव होगा जिसका विवरण नीचे प्रस्तुत है। 

जनवरी

जनवरी माह में 17 जनवरी को शनि आपके लग्न में गोचर कर आपके तीसरे, सातवें और दशम भाव पर दृष्टिपात करेंगे। तीसरे भाव में विराजमान राहु पर शनि की दृष्टि होगी। इस समय आपको अति उत्साह में कोई गलत काम नहीं करना है। आपको यात्राओं से शनिदेव लाभ देंगे वही व्यापारी वर्ग के लिए भी यह संचरण अनुकूल होगा। इस माह आपको पत्नी की सेहत का भी ध्यान रखना होगा। वहीं कार्य स्थल पर आपकी जिम्मेदारी बढ़ाई जा सकती है। वाणी भाव में गुरु के गोचर से वाणी से कार्य सिद्ध करने का समय है। दशम भाव पर शनि गुरु का संयुक्त प्रभाव उन्नति की ओर संकेत कर रहा है। परिवार में कोई मांगलिक कार्य हो सकता है। 

फरवरी

फरवरी माह में शुक्र के शुभ गोचर के कारण प्रेम संबंध बेहतर होंगे और इस समय आप काफी रोमांटिक महसूस करेंगे। यह समय जीवन के किसी नए प्रेमी के आगमन का भी संकेत दे रहा है। कुछ समय के लिए इस माह शनि शुक्र की युति किसी उम्रदराज महिला से सहयोग की ओर इशारा कर रही है। माह के मध्य में उच्च के शुक्र का गोचर गुरु के साथ राजयोग का निर्माण कर बड़े निवेश के रास्ते खोलेगा। इस माह आपको आपके परिवार से कोई बड़ी मदद मिल सकती है। चौथा मंगल वैवाहिक जीवन में हल्का तनाव देगा लेकिन शुक्र की कृपा से पत्नी आपसे इस माह प्रसन्न रहने वाली है। 

ये भी पढ़ें:-

मार्च

मार्च माह में दशमेश मंगल का पंचम में गोचर लाभदायक सिद्ध होगा। इस समय शिक्षा ग्रहण कर रहे जातक अध्ययन में अपना समय अच्छे से दे पाएंगे वहीं शेयर बाजार में काम कर रहे जातकों को मुनाफा होगा। इस समय कारोबारी वर्ग से जुड़े लोगों को विदेश जाने का मौका मिल सकता है। इस माह आपको किसी समुद्री यात्रा पर जाने का मौका मिलेगा। तीसरें भाव में विराजमान शुक्र की राहु से युति सिनेमा और ग्लैमर से जुडी महिला जातकों को लाभ देगा। इस समय पुरुष जातकों को किसी महिला स्त्री की मदद से अच्छे और बड़े आर्डर मिल सकते है। वाणी भाव में सूर्य गुरु की युति राजनीति से जुड़े जातकों को अच्छी सफलता दे सकती है। यह समय शोध कार्य से जुड़े जातकों के लिए अच्छे अवसर लेकर के आने वाला है। 

अप्रैल

अप्रैल के अंत में गुरु का महत्वपूर्ण गोचर जीवन में कई अहम बदलाव लेकर के आने वाला है। इस माह गुरु का गोचर धन भाव से निकलकर पराक्रम भाव में होगा। तीसरे भाव में मेष राशि में विराजमान गुरु की दृष्टि सप्तम,नवम और लाभ भाव पर होगी। इस माह आपको अपने वैवाहिक जीवन में सुख की प्राप्ति होगी। जो जातक विवाह की प्रतीक्षा कर रहे है उन्हें इस माह खुशखबरी मिल सकती है। केंद्र में शुक्र के गोचर के कारण आप इस माह पारिवारिक सुख सुविधा पर धन खर्च करेंगे। इस माह आपको अपनी मां की ओर से कोई नया काम शुरू करने के लिए मदद मिल सकती है। इस माह स्त्री जातकों को भाइयों का सहयोग मिलेगा जिससे आपका मन प्रसन्न होगा। 

मई

मई माह में सूर्य देव आपके चौथे और दशम भाव को प्रभावित करेंगे जिससे आपके काम की कार्यस्थल पर सराहना होगी। इस माह आप अपनी मां की सेहत को लेकर थोड़ा सा परेशान हो सकते हैं। इस माह शत्रु भाव में नीच का मंगल का गोचर गुप्त शत्रु बढ़ाने वाला होगा। इस माह किसी भी प्रकार के विवाद से दूर ही रहे तो अच्छा है। भाग्य पर गुरु मंगल राहु का संयुक्त प्रभाव पिता से मतभेद की ओर इशारा कर रहा है हालांकि इस माह आप आध्यात्मिक यात्रा पर भी जा सकते है। किसी सिद्ध पुरुष से मुलाकात हो सकती है। इस माह ग्रह चाल कह रही है कि दार्शनिक व्यक्तियों की ओर आपका रुझान रहने वाला है। 

जून

जून माह में आपको स्वास्थ्य को लेकर सावधान रहना होगा। इस समय मौसमी बीमारी से आपका सामना हो सकता है। जो ह्रदय रोगी है उन्हें नियमित चेककप करवाने की सलाह दी जाती है। इस समय छठे भाव में मंगल शुक्र की युति के कारण आपको अपने कार्य स्थल पर किसी महिला सहकर्मी से प्रेम हो सकता है। पंचम में सूर्य पर केतु की दृष्टि के कारण हो सकता है कि आपको उस महिला के कारण कुछ बदनामी भी झेलनी पड़ जाए। पराक्रम भाव में राहु और गुरु का गोचर इस समय आपको यात्राओं से लाभ देगा। इस माह आपको यह सलाह दी जाती है कि आप अपनी वाणी से किसी का कोई नुकसान नहीं करें। 

जुलाई

जुलाई माह में मंगल का गोचर आठवें भाव में होने से आपको वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाई आ सकती है। भाग्य में केतु का गोचर इस समय आपको अपने गुरु के द्वारा बड़ा सहयोग देगा। इस समय अगर आप साझेदारी में काम करने की सोच रहे है तो समय अनुचित है। इस समय आपको अपने व्यापार में कुछ कठिनायो का सामना करना पड़ सकता है। स्त्री जातकों को इस माह धन के मामले में सावधान रहना होगा। आप अपने श्रृंगार और साज सज्जा पर अधिक धन खर्च कर सकती है। इस माह आप अगर अपनी किसी पुरानी संपत्ति को बेचना चाह रहे है तो उचित समय है। 

अगस्त 

अगस्त माह में राहु सूर्य के द्वारा ग्रहण योग का निर्माण होगा जिसके कारण आप अपने पिता की सेहत को लेकर परेशान रह सकते हैं। इस माह मीडिया,लेखन और जनसंचार से जुड़े जातक प्रसिद्धि प्राप्त करेंगे। जो लोग अपनी खुद की कोई किताब लिखना चाह रहे है उनके लिए अब अनुकूल समय है। शेयर मार्केट से जुड़े जातकों को सलाह दी जाती है कि वो अधिक धन के निवेश से खुद को बचाएं। इस माह आप वाहन थोड़ा सावधानी से चलाए। शुक्र का कर्क में गोचर आपके लिए मानसिक चिंता का कारण बन सकता है। 

सितंबर

सितंबर माह में पंचम के सप्तम में जाने से आपको विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण महसूस होगा। इस समय हो सकता है कि आप अपने किसी मित्र के प्रति प्रेम महसूस करें और प्रपोज कर दें। इस माह मध्य में अष्टम में सूर्य मंगल की युति थोड़ी कष्टकारक हो सकती है। आपको यह सलाह दी जाती है कि इस माह किसी भी प्रकार का आर्थिक लेनदेन न करें। आप अगर विवाहित है तो ससुराल पक्ष से तनाव संभव है। गुरु बुध का पंचम नवम योग शिक्षक वर्ग के लिए बेहद अच्छा रहने वाला है। इस माह कर्मकांड और वेद पाठ से जुड़े जातकों को सम्मान प्राप्त होगा। सरकार के साथ जो काम कर रहे है उन्हें लापरवाही से बचना होगा। 

अक्टूबर

अक्टूबर माह में राहु का संचरण मीन में और केतु का संचरण कन्या में होगा। दोनों ग्रहों का यह संचरण जीवन में बड़ा बदलाव लेकर के आने वाला होगा। वाणी भाव में विराजमान राहु के प्रभाव से धन संचय में कठिनाई होगी। अनावश्यक कार्य में धन खर्च होता हुआ दिखाई दे रहा है हालांकि आपकी नौकरी में उन्नति होगी और अब आपके शत्रु भी खत्म होंगे। कार्यस्थल पर आप किसी पर अधिक यकीन नहीं करे तो ही अच्छा है। केतु के कारण विदेश से लाभ होगा। उच्च शिक्षा के लिए आप विदेश जा सकते हैं। गुप्त विद्या में अब आपकी रूचि और बढ़ने वाली है। इस माह गुरुदेव बृहस्पति गुरुचांडाल योग से मुक्त होकर शुभ फल देने वाले होंगे।  

नवंबर

नवंबर माह में कुंभ राशि के जातक यात्राओं से लाभ अर्जित करने वाले होंगे। दशम भाव में मंगल के राजयोग से आपको कोई बड़ा प्रोजेक्ट लीड करने के लिए कहा जा सकता है जिसमें आप पूरी तरह सफल होंगे। इस माह आपके उच्च अधिकारी आपसे पूरी तरह प्रसन्न रहने वाले है। गुरु की सप्तम पर दृष्टि दाम्पत्य जीवन में रंग भरने का काम करेगी। इस माह अष्टम में नीच के शुक्र की केतु के साथ युति किसी स्वास्थ्य समस्या की ओर इशारा कर रही है हालांकि आपको इस समय परायी स्त्री से भी बचकर रहना होगा। किसी दूसरी स्त्री के कारण पारिवारिक जीवन में कलह होने से बचना होगा। आपकी मां की सेहत को लेकर थोड़ा परेशान होंगे। 

दिसंबर

साल के अंतिम माह दिसंबर में गुरु शुक्र का समसप्तक योग भाग्य का भरपूर साथ देने वाला होगा। इस माह तुला राशि में भाग्य में विराजमान शुक्र आपको परिवार की किसी महिला से बड़ा लाभ देंगे। काफी समय से अगर आप किसी वाहन को खरीदना चाहते थे तो वो सपना इस माह आपका पूरा हो सकता है। लाभ में सूर्य का गोचर व्यापार में अच्छा मुनाफा देने वाला होगा। इस माह सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे जातक सफलता मिलने से उत्साहित होंगे। जो स्त्री जातक काफी समय से खुद का कारोबार शुरू करना चाह रही थी अब उन्हें निवेश की प्राप्ति हो सकती है। दशम मंगल के कारण आपके द्वारा परिवार में किसी मांगलिक कार्य का आयोजन करवाया जा सकता है।

Leave a comment

ट्रेंडिंग