रखा हुआ जूस कितनी देर में हो जाता है खराब या बेकार, जानें जूस को कितने देर के अंदर पी लेना चाहिए

रखा हुआ जूस कितनी देर में हो जाता है खराब या बेकार, जानें जूस को कितने देर  के अंदर पी  लेना चाहिए
Last Updated: Fri, 17 Dec 2021

रखा हुआ जूस कितनी देर में हो जाता है खराब या बेकार, जानें जूस को कितने देर  के अंदर पी  लेना चाहिए

फ्रेश जूस को कुछ घंटों तक स्टोर करके रखना संभव है, लेकिन इसे लंबे समय तक स्टोर करने से यह खराब हो जाता है। इसके विटामिन्स और एंजाइम समय के साथ नष्ट हो जाते हैं और इसका पोषण मूल्य भी खत्म हो जाता है। फलों या सब्जियों का जूस बनाने की प्रक्रिया में, प्रोसेसर में हीट प्रोड्यूस होती है जिससे फलों और सब्जियों के सारे न्यूट्रिएंट्स खत्म हो जाते हैं। इन्हें साबुत खाना सबसे अच्छा माना गया है। जूस, फिटनेस के शौकीनों की जिंदगी का सबसे अहम हिस्सा है। जूस पीना सेहत के लिए फायदेमंद रहता है। लोग फल खाने की बजाय उसका जूस पीना पसंद करते हैं, लेकिन इससे जुड़ी कई बातें हैं जिनके बारे में आपको जानना चाहिए। कई फैक्ट्स हैं जो जूस को और भी बेहतर बनाते हैं। अगर जूस पीना आपकी आदत है, तो कोशिश करें कि जब भी जूस पिएं, ताजा ही पिएं। जूस को स्टोर करके रखना और बाद में पीना सही नहीं है।

यदि आप किसी फल का जूस पी रहे हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि इसे देर तक बनाकर रखने और फिर पीने से आपके स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता है। एक और बात, जो भी फ्रूट काटने के बाद काला पड़ जाए, उसका जूस नहीं बनाना चाहिए, जैसे एप्पल का जूस बनाने से यह ऑक्सीडाइज हो जाता है और इसके न्यूट्रिएंट्स खत्म हो जाते हैं। तो आइए जानते हैं इस आर्टिकल में कि कितनी देर के अंदर जूस को पी लेना चाहिए।

 

टेस्टी और हेल्दी

ये भी पढ़ें:-

जूस टेस्टी भी होता है और हेल्दी भी। लेकिन क्या आपको मालूम है कि किसी भी समय फलों का जूस पीना हेल्दी नहीं होता है। जूस पीने का भी एक सही समय होता है। सही समय पर जूस पीने से कई फायदे होते हैं। जैसे कि रात के समय जूस कभी नहीं पीना चाहिए, क्योंकि यह बॉडी को ठंडा कर देता है और खाने को पचाने में बाधा उत्पन्न करता है। वहीं, सही समय पर जूस पीने से यह स्वास्थ्य के लिए और अधिक फायदेमंद हो जाता है और शरीर को पोषक तत्व भी प्रदान करता है। इसलिए हमारे लिए जूस पीने का सही समय जानना जरूरी है।

 

एक्सरसाइज के दौरान जूस लें

अगर आप जिम जाकर वर्कआउट करती हैं या सुबह रनिंग करती हैं, तो अपने साथ एक बोतल जूस रखना न भूलें। एक्सरसाइज के दौरान थोड़ी-थोड़ी मात्रा में जूस पीने से शरीर को सामान्य समय की तुलना में अधिक फायदा होता है। एक्सरसाइज के दौरान बोतल में अपनी पसंद का मिल्कशेक, स्मूदी या जूस भर लें। फिर इसे दस-दस मिनट के ब्रेक पर पिएं। इससे शरीर को जरूरी ऊर्जा मिलेगी और जूस में मौजूद शुगर से मिलने वाली कैलोरी आसानी से बर्न भी हो जाएगी। क्योंकि एक्सरसाइज के दौरान ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है। ऐसे में जब आप कुछ खाते या पीते हैं, तो वह तेजी से ब्लड में सर्कुलेट होकर पूरे शरीर में चला जाता है।

 

20 मिनट के अंदर पी लें जूस

अक्सर लोग ऐसा करते हैं कि जूस निकालकर रख देते हैं और फिर कई घंटों बाद उसे पीते हैं। जूस पीने का यह तरीका गलत है और आपके स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। कई स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने भी ऐसा न करने की सलाह दी है। आजकल हर कोई पैकेज्ड जूस पीने में विश्वास करने लगा है, लेकिन अगर आप घर पर फ्रेश जूस बना रहे हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि इसे कितनी देर में पी लेना चाहिए।

इससे जुड़े महत्वपूर्ण बातें

इसके साथ ही जूस कब तक अच्छा रहेगा यह कई बातों पर निर्भर करता है। इनमें से कुछ खास हैं:

 

किस तरह का जूसर प्रयोग किया गया है।

कौन से फलों और सब्जियों का जूस बनाया गया है।

ऑक्सीकरण स्तर।

स्टोर करने का तरीका।

 

क्या होता है ऑक्सीकरण स्तर

फ्रेश जूस को कुछ घंटों तक के लिए स्टोर करके रखना संभव है, लेकिन इसे लंबे समय तक स्टोर करना इसे खराब कर देता है। इसके विटामिन्स और एंजाइम समय के साथ खराब हो जाते हैं और इसका पोषण मूल्य भी खत्म हो जाता है। ऑक्सीकरण वह हीट होती है जो जूस बनाते समय जूसर या फिर ब्लेंडर्स से निकलती है। यह जूस में मौजूद पोषक तत्वों को खराब कर देती है। जब जूस हवा के संपर्क में आता है तो इसमें मौजूद प्रोटीन और अमिनो एसिड ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया कर लेते हैं, जिससे इसका रंग बिगड़ जाता है और पोषक तत्व भी खत्म हो जाते हैं।

 

बढ़ रहा है जूस का कारोबार

साल 2016 में ही दुनिया में फ्रूट जूस का कारोबार 154 अरब डॉलर का हो चुका था और यह तेजी से बढ़ रहा है। चीनी का यह प्राकृतिक रूप होता है, जो कमोबेश हर फल में पाया जाता है। इसे नुकसानदेह नहीं माना जाता। अगर आप इसे संतुलित रूप से लें तो यह फायदेमंद है। जब हम फल खाते हैं, तो इसमें मौजूद फाइबर भी फ्रक्टोज के साथ हमारे शरीर में जाते हैं। इन्हें तोड़ने और खून में घुलने में वक्त लगता है। जब हम फलों का जूस लेते हैं, तो फाइबर अलग हो जाता है। सिर्फ फ्रक्टोज और कुछ विटामिन ही उसमें रह जाते हैं, जो हमारे शरीर में जाते हैं।

Leave a comment

ट्रेंडिंग